कंप्यूटर की कितनी पीढ़ियां है Generation of Computer in Hindi

0
85
कंप्यूटर की कितनी पीढ़ियां है कंप्यूटर की पीढ़ियों के बारे में जानकारी हिंदी में
कंप्यूटर की कितनी पीढ़ियां है कंप्यूटर की पीढ़ियों के बारे में जानकारी हिंदी में
5/5 - (1 vote)
Generation of Computer in Hindi
इस पोस्ट में इन टॉपिक को कवर किया है :- hide

प्रथम पीढ़ी के कंप्यूटर (1945-1955)

प्रथम पीढ़ी के कंप्यूटर (1945-1955)
प्रथम पीढ़ी के कंप्यूटर (1945-1955)

प्रथम पीढ़ी के कंप्यूटर की शुरूआत 1945 से मानी जाती है। इस जनरेशन में VacuumTube Technology का प्रयोग किया गया था । इसमें मशीन भाषा का प्रयोग किया गया था इसमें मेमोरी के तौर पर चुम्बकीय टेप एवं पंच कार्ड का प्रयोग किया जाता था।

द्वितीय पीढ़ी के कंप्यूटर (1955-1964)

द्वितीय पीढ़ी के कंप्यूटर (1955-1964)
द्वितीय पीढ़ी के कंप्यूटर (1955-1964)

द्वितीय पीढ़ी के कंप्यूटर की शुरूआत 1956 से 1964 तक मानी जाती है । इस पीढ़ी में Transistor का प्रयोग किया गया था । कंप्यूटर का विकास जिसका विकास Willom Shockly ने 1947 में किया था । इसमें असेम्बली भाषा का प्रयोग किया गया था । इसमें मेमोरी के तौर पर चुम्बकीय टेप का प्रयोग किया जाने लगा था

तीसरी पीढ़ी के कंप्यूटर (1964-1975)

तीसरी पीढ़ी के कंप्यूटर (1964-1975)
तीसरी पीढ़ी के कंप्यूटर (1964-1975)

तीसरी पीढ़ी के कंप्यूटर की शुरूआत 1964 से मानी जाती है। इस जनरेशन में आई सी का प्रयोग किया जाने लगा था IC का पूरा नाम Integrated Circuit है IC का विकास 1958 में Jack Kilby ने किया था कंप्यूटर के इतिहास इसमें IC Technology (SSI) का प्रयोग किया गया था SSI का पूरा नाम Small Scale Integration है इसमे हाई लेविल भाषा का प्रयोग प्रोग्रामिंग के लिये किया जाता था । इसमें मेमोरी के तौर पर चुम्बकीय डिस्क का प्रयोग किया जाने लगा था

चौथी पीढ़ी के कंप्यूटर  (1975 से 1989)

चौथी पीढ़ी के कंप्यूटर (1975 से 1989)
चौथी पीढ़ी के कंप्यूटर (1975 से 1989)

चौथी पीढ़ी के कंप्यूटर की शुरूआत 1975 से 1989 तक मानी जाती है । इस जनरेशन में आई सी की आधुनिक तकनीकी का प्रयोग किया जाने लगा था । IC की यह तकनीकी VLSI थी इसका पूरा नाम Very Large – Scale Integration है इसमें हाई लेविल भाषा का प्रयोग प्रोग्रामिंग कि लिये किया जाता था।

पांचवीं पीढ़ी के कंप्यूटर – 1989

पांचवीं पीढ़ी के कंप्यूटर – 1989
पांचवीं पीढ़ी के कंप्यूटर – 1989

पांचवीं पीढ़ी के कंप्यूटर की शुरूआत 1989 से मानी जाती है । इस जनरेशन में आई सी की आधुनिक तकनीकी का प्रयोग किया जाने लगा था IC की यह तकनीकी ULSI थी इसका पूरा नाम Ultra Large Scale Integration है । इसमें हाई लेविल भाषा का प्रयोग प्रोग्रामिंग कि लिये किया जाता जो अधिक सरल है । इन भाषाओं में GUI Interface का प्रयोग किया जाता है ।

ये भी पढ़े हिंदी में   Avneesh Social Media

वर्तमान पीढ़ी के कंप्यूटर में प्रयोग होते हैं

अगली पीढ़ी के कंप्यूटर

नैनो कंप्यूटर

नैनो कंप्यूटर
नैनो कंप्यूटर

नैनो स्तर (10m) पर निर्मित नैनो ट्यूब्स के प्रयोग से अत्यन्त छोटे व विशाल क्षमता वाले कंप्यूटर के विकास का प्रयास किया जा रहा है

क्वांटम कंप्यूटर

क्वांटम कंप्यूटर
क्वांटम कंप्यूटर

यह प्रकाश के क्वांटम सिद्धान्त पर आधारित है जिसमें आंकड़ों का  संग्रहण और संसाधन क्वांटम कण कहते है । ये कण युग्म में रहते हैं और इन्हें “क्यू बिट्स‘ कहते हैं ।

एप्लीकेशन पर कंप्यूटर आधार के प्रकार

एप्लीकेशन के आधार पर कंप्यूटर तीन प्रकार के होते है ।

Analog Computer

जो भौतिक मात्राओं को नापने का कार्य करते है । एनालॉग कंप्यूटर का प्रयोग विज्ञान एवं Engineering के क्षेत्र में किया जाता है क्योकि इन क्षेत्रों में परिमाप का प्रयोग अधिक होता है ।

Digital Computer

यह कंप्यूटर अंको की गणना करते है। अधिकांशत  कंप्यूटर डिलिटल कंप्यूटर ही होते है ।

Hybrid Computer

वे कंप्यूटर जो एनालॉन एवं डिजिटल कंप्यूटर दोनों का कार्य करते है। उदाहरण Petrol Pump यह pertrol आदि को नापता है और उसके मूल्य की गणना भी करता है ।

उद्देश्य के आधार पर कंप्यूटर दो प्रकार के होते हैं ।

General Purpose Computer

जिससे समान्य कार्य किये जाते है । इनका प्रयोग घरों एवं दुकानों किया जाता है ।

Special Purpose Computer

यह कंप्यूटर विशेष कार्य के लिये तैयार किये जाते हैं इनका प्रयोग निम्न क्षेत्रों में किया जाता है । जैसे मौसम विज्ञान, कृषि विज्ञन, युद्ध एवं अंतरिक्ष आदि विज्ञान में इसका प्रयोग होता है

आकार एवं कार्य करने के आधार पर कंप्यूटर निम्न प्रकार के होते है ।

Micro Computer

यह कंप्यूटर आकार में छोटे होते है । इन कंप्यूटर का विकास 1970 के दशक में हुआ था । इन कंप्यूटर में माइको प्रोसेसर का प्रयोग किया जाता था । इन कंप्यूटर को PC भी कहा जाता है ।

PC को निम्न भागों में बांटा गया है ।

  1. Desktop Computer
  2. Laptop Computer
  3. Palmtop Computer
  4. Notebook Computer

Tablet Computer Desktop

Desktop Computer

Computer वे कंप्यूटर होते हैं जिनको टेबिल पर रखकर चलाया जाता है

Laptop Computer

Laptop Computer वे होते है जिनको गोदी में रखकर चलाया जाता है यह साईज में बहुत छोटे होते है । इन कंप्यूटर को एक स्थान से दूसरे स्थान पर आसानी से ले जा सकते हैं । इनमें पावर के लिये बैटरी का प्रयोग होता है । कंप्यूटर क्या है ? इसके प्रकार एवं विशेषताएं इसकी परिभाषा, अर्थ और कार्य

Palmtop Computer

यह कंप्यूटर Laptop Computer से छोटे होते है जिनको हथेली में रखकर चलाया जाता है । इनकी कार्य करने की क्षमता लेपटॉप से थोडी कम होती है ।

Notebook Computer

Notebook computer, Laptop Computer के समान ही होते हैं

Tablet Computer

यह कंप्यूटर बहुत ही छोटे कंप्यूटर होते हैं । यह मोबाईल से थोड़े बड़े होते है । यह टचस्कीन होते हैं ।

Work station Computer

Work station Computer का प्रयोग छोटे व्यापार में सर्वर के रूप में किया जाता है । इनकी कार्य करने की क्षमता माईको कंप्यूटर की अपेक्षा अधिक होती है ।

Mini Computer

यह वो कंप्यूटर जो बड़ी बड़ी कम्पनीयों एवं सरकारी ऑफिस में सर्वर कंप्यूटर के कार्य के लिये प्रयोग किये जाते है । PDP – 8 First Mini Computer विकास 1965 में किया गया था DEC Company ने बनाया था । DEC का पूरा नाम Digital Equipment Corporation है ।

Main frame Computer

यह वो कंप्यूटर जो बडी बडी कम्पनीयो एवं सरकारी ऑफिस में सर्वर कम्प्यूट के कार्य के लिये प्रयोग किये जाते हैं । इन कम्प्यूटरस में माईको कम्प्यूटर का प्रयोग Client के तौर पर किया जाता है । कुछ Main frame Computer निम्न है । IBM 4381 , ICL 39 , CDC Cyber etc.

Super Computer

 Super Computer
Super Computer

सुपर कंप्यूटर विशेष प्रकार के कंप्यूटर होते हैं । इनका निर्माण विशेष कार्य के लिये किया जाता है । यह दुनिया के सबसे तेज और बडे कंप्यूटर होते है भारत का पहला सुपर कंप्यूटर परम है ।

सुपर कंप्यूटर के कार्य

1. अंतरिक्ष यात्रा के लिये
2. मौसम विज्ञान की जानकारी ज्ञात के लिये
3. युद्ध के लिये

ये भी पढ़े हिंदी में   Avneesh Social Media

मुझे उम्मीद है कि आपको यह पोस्ट पसंद आई होगी जरूर पसंद आया होगा मेरी हमेशा से यही कोशिश रहेगी कि आपको कंप्यूटर की कितनी पीढ़ियां है कंप्यूटर की पीढ़ियों के बारे में जानकारी हिंदी में पूरी जानकारी प्रदान की जा सके जिससे उन्हें किसी दूसरे साइड या इंटरनेट में उस के संदर्भ में खोजने की जरूरत ना पड़े

जिससे उनकी समय की बचत भी हो सके और एक ही जगह पर उन्हें सभी Computer से जुड़ी पूरी जानकारी प्राप्त हो सके जैसे कि कंप्यूटर की पीढ़ियों के बारे में जानकारी, वर्तमान पीढ़ी के कंप्यूटर में प्रयोग होते हैं ,कंप्यूटर की पीढ़ियों आदि के बारे में यदि आपके मन में इस आर्टिकल को लेकर कोई भी डाउट है या आप चाहते हैं कि इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए तो आप comments बॉक्स में बता सकते हैं

यदि आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो कि एप्लीकेशन पर कंप्यूटर आधार के प्रकार पसंद आया है या कुछ सीखने को मिला तो कृपया करके post को Social Networks  जैसे कि Facebook, Twitter, Whatsapp इत्यादि पर share जरूर करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here